In The News

Get the latest and updated article on real estate

बायर्स को आश्वासन देने से पहले ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी करेगी अटके प्रॉजेक्ट्स का ऑडिट...

   Posted on 16th Sep 2017 16:44:38 in


 नोएडा। रियल्टी मीडिया

ग्रेटर नोएडा में जितने भी बिल्डर प्रॉजेक्ट्स का काम रुका हुआ है, वहां पजेशन कब तक मिलेगा, इसके लिए बायर्स को अभी तीन महीने इंतजार करना होगा। अथॉरिटी या प्रदेश सरकार बायर्स को कोई भी आश्वासन देने से पहले ऐसे प्रॉजेक्ट्स का फिजिकल और फाइनैंशल ऑडिट कराएगी। ऑडिट करने वाली कंपनी के चयन के लिए अथॉरिटी एक-दो दिनों में टेंडर जारी कर इस महीने के अंत तक कंपनी का चयन कर लिया जाएगा।

ग्रेटर नोएडा और ग्रेटर नोएडा वेस्ट में करीब 50 बिल्डर प्रॉजेक्ट्स का काम ठप है। इस प्रॉजेक्ट्स से जुड़े खरीदार पिछले कई महीनों से बिल्डर, अथॉरिटी और सरकार से पूछ रहे हैं कि उन्हें फ्लैट कब तक मिलेगा। इस सवाल का जवाब बायर्स को तीन महीने बाद ही मिल पाएगा। ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी के सीईओ देबाशीष पांडा ने बताया कि जिन बिल्डर प्रॉजेक्ट्स के काम रुके हुए हैं, उन सभी का फाइनैंशल और फिजिकल ऑडिट कराया जाएगा। इससे यह पता चल सकेगा कि बिल्डर ने प्रॉजेक्ट में निवेश करने वालों के पैसे कहां लगाए हैं। अगर उसी प्रॉजेक्ट में लगाए हैं तो प्रॉजेक्ट अब पूरा क्यों नहीं हुआ।
सीईओ का कहना है कि ऑडिट से ही बिल्डरों की हकीकत सामने आएगी। ऑडिट रिपोर्ट मिलने के बाद ही अथॉरिटी या सरकारी स्तर पर प्रॉजेक्ट को पूरा कराने से संबंधित कोई फैसला लिया जा सकेगा।ऑडिट कराने के लिए कंसल्टेंट की नियुक्ति अथॉरिटी की ओर से की जाएगी। इसके लिए एक-दो दिनों में टेंडर जारी कर दिया जाएगा। सीईओ ने बताया कि इस महीने के अंत तक कंसल्टेंट की नियुक्ति कर ली जाएगी। अगले महीने के पहले हफ्ते से अटके हुए बिल्डर प्रॉजेक्ट्स का ऑडिट शुरू करा दिया जाएगा। इस लिस्ट में आम्रपाली ग्रुप के प्रॉजेक्ट्स टॉप पर हैं। सबसे पहले इसी ग्रुप के प्रॉजेक्ट्स का ऑॅडिट किया जाएगा।